कैनबिस/भांग और मानसिक स्वास्थ्य

Cannabis and mental health 

भूमिका

ब्रिटेन में दो लाख लोग कैनबिस/भांग का सेवन धूम्रपान करते हैं। 16 से 19 आयुवर्ग के बच्चों में आधों ने कम से कम एक बार इसका इस्तेमाल किया है। सरकार द्वारा स्वास्थ्य खतरे की चेतावनियों के बावजूद भी बहुत से लोग इसे हानिरहित पदार्थ समझते हैं जिससे शांत रहने तथा ‘चिल’ करने में मदद मिलती है और जो शराब और सिगरेट के विपरीत शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। दूसरी ओर हाल में ही किये गये शोध के अनुसार आनुवांशिक भेद्यता के लोगों में यह मानसिक बीमारी को उत्पन्न करने का प्रमुख कारण हो सकता है।

यह पत्रक भांग उपयोग के प्रभाव व मानसिक स्वास्थ्य पर किये गये अनुसंधानों पर प्रकाश डालता है और उनके लिए है जो इस मुद्दे को लेकर चिंतित हैं। हमें उम्मीद है कि यह लोगों को भांग उपयोग करने या न करने के लिए सूचित विकल्प देने में मदद करेगा।

कैनबिस/भांग क्या है?

कैनबिस सैटिवा और कैनबिस इंडिका बिछुआ (नैटल) परिवार के सदस्य है जो कि सदियों से दुनिया भर में जंगली पाये जाते हैं। दोनों पौधों का प्रयोग भिन्न प्रयोजनों के लिए किया गया है जैसे कि रस्सी व वस्त्र बनाने के लिए, एक चिकित्सा जड़ी-बूटी के रूप में या फिर लोकप्रिय मनोरंजन दवा/पदार्थ के लिए।

इस पौधे का उपयोग इस प्रकार होता है:-

राल (रेसिन):   एक भूरी काली गांठ जिसे भांग, गांजा, चरस राल आदि के रूप में जाना जाता है।

हर्बल भांग :  यह सूखे फूलों एवं विभिन्न मात्रा के सूखे पत्तों से बनता है। यह ग्रास, मारिजुआना, स्पिलफ या वीड् के नाम से जाना जाता है।

            ‘स्कंक’ भांग की ताकतवर किस्मों में से एक है, जिसे सक्रिय पदार्थों की ज्यादा उच्च मात्रा होने के कारण उगाया जाता है। जब यह बढ़ रहे होते हैं तो इनसे तीखी गंध आती है, यह नाम उसी के संदर्भ में है। यह ग्रो लाइट्स या ग्रीनहाउस में अक्सर हाइड्रोपोनिक तकनीक (मिट्टी की बजाय पोषक तत्व से भरपूर तरल पदार्थ में बढ़ना) द्वारा उगाए जा सकते हैं। भांग की अन्य 100 से अधिक किस्में हैं जो कि विदेशी नामों से जानी जाती है जैसे- ए.के. 47 या डिस्ट्रायर (विनाशक)।

स्ट्रीट भांग विभिन्न ताकतवर प्रकारों में आ सकता है। इसलिए यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि एक समय पर वास्तव में भांग का कितना सेवन किया गया है।

इसका प्रयोग कैसे किया जाता है?

आमतौर पर भांग की राल और सूखे पत्तों को तंबाकू के साथ मिश्रित कर के ”स्पिलफ“ या ”ज्वाइण्ट“ के रूप में धूम्रपान किया जाता है। धुंये को जोर से श्वास में लिया जाता है व कुछ क्षण के लिए फेफड़ों में रहने दिया जाता है। इसका धूम्रपान एक पाइप, एक पानी के पाइप या एक डिब्बे में एकत्र करके किया जा सकता है। इसे चाय के रूप में पिया जा सकता है या केक में पकाया जा सकता है।

ब्रिटेन में इसकी कानूनी स्थिति क्या है?

कैनबिस को जनवरी 2009 में फिर से वर्गित किया गया था और अब यह ड्रग्स दुरूपयोग अधिनियम, 1971 के तहत कक्षा ”बी“ की दवा है।

इसके अंर्तगत अधिकतम दंड है-

  • कब्जे में पाये जाने पर - 5 साल की जेल की सजा या असीमित जुर्माना या फिर दोनो।
  • बेचने या सप्लाई करने पर - 14 साल की जेल की सजा या असीमित जुर्माना या फिर दोनो।

युवा लोगों के कब्जे में भांग पाये जाने परः-

एक युवा के कब्जे में भांग पाये जाने पर -

  • वह गिरफ्तार हो सकता है।
  • उसे पुलिस थाने ले जाया जा सकता है।
  • अपराध को देखते हुये डांटा जा सकता है, अंतिम चेतावनी दी जा सकती है या आरोपित किया जा सकता है।

एक फटकार के बाद पुनः अपराध करने पर अंतिम चेतावनी या आरोप लगाया जा सकता है।

अंतिम चेतावनी के बाद –

  • युवा को युवा अफेडिंग टीम के पास भेजा जाता है ताकि इस टीम द्वारा उस युवक के पुर्नवास कार्यक्रम की व्यवस्था की जा सके।
  • पुनः अपराध करने पर आपराधिक आरोप लगाया जा सकता है।

व्यस्क के पास पाये जाने परः-

आमतौर पर व्यस्क को चेतावनी दी जाती है और भांग जब्त कर ली जाती है। कुछ मामलों में गिरफ्तारी की जाती है या फिर सावधानी और अभियोजन पक्ष की जरूरत पड़ सकती है जैसे कि -

  • बार-बार अपराध करने पर।
  • सार्वजनिक स्थान में भांग का धूम्रपान करने पर।
  • सार्वजनिक व्यवस्था भंग करने पर।

भांग की रासायनिक रचना क्या है और यह कैसे काम करता है?

एक आम भांग के पौधे में लगभग 400 रासायनिक यौगिक होते हैं। चार मुख्य यौगिकों के नाम हैं -

  1. डेल्टा 9 टेट्राहाइड्रोकैनाबिनौल
  2. कैनाबिडिओल
  3. डेल्टा 8 टेट्राहाइड्राकैनाबिनौल
  4. कैनाबिनौल

कैनाबिडिओल के अलावा यह सब यौगिक मनोवैज्ञानिक रूप से सक्रिय हैं और डेल्टा 9 टेट्राहाइड्राकैनाबिनौल सबसे अधिक सशक्त है। इस पौधे की घनिष्ठ किस्मों में कैनाबिडिओल की मात्रा कम होती है जबकि डेल्टा 9 टेट्राहाइड्रोकैनाबिनौल की मात्रा कहीं ज्यादा होती है।

जब भांग का धूम्रपान किया जाता है तो इसके यौगिक तीव्रता से खून में प्रवेश करते हैं और सीधे मस्तिष्क और शरीर के अन्य भागों में पहुंच जाते हैं। “स्टोन्ड” और “हाई” की भावना मुख्य रूप से मस्तिष्क में कैनाबिनाइड रिसेप्टर्स पर डेल्टा-9 टी.एच.सी. के जुड़नें से होती है। रिसेप्टर मस्तिष्क कोशिका पर एक ऐसी जगह होती है जहाँ कुछ प्रकार के पदार्थ थोड़ी देर के लिए चिपक सकते हैं या बंध सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो इसका प्रभाव कोशिका या इससे उत्पन्न तंत्रिका आवेगों पर हो सकता है। यह भी रूचिपूर्ण है कि मस्तिष्क द्वारा स्वभाविक रूप में भांग जैसे पदार्थ का निर्माण होता है जिसे ‘ऐंडोकैनाबिनाएड’ कहा जाता है।

इनमें से अधिकांश रिसेप्टर्स मस्तिष्क के उन हिस्सों में पाये जाते हैं जो कि खुशी, स्मृति, सोच, एकाग्रता, संवेदना और समय की धारणा को प्रभावित करते हैं। भांग के यौगिक आंख, कान, त्वचा और पेट को भी प्रभावित कर सकते हैं।

इसके क्या प्रभाव हैं?

अच्छे प्रभाव -

हाई - इसमें अत्यंत आराम, खुशी, निद्रा की अनुभूति होती है। रंग तीव्र दिखाई देते हैं और संगीत बेहतर सुनाई देता है।

दुष्प्रभाव -

10 में से 1 भांग उपयोगकर्ता को अप्रिय अनुभव होते हैं, जिसमें भ्रम, मतिभ्रम, चिंता और भय शामिल हैं। एक ही व्यक्ति को अपने मूड/मनःस्थिति या परिस्थितियों के अनुसार प्रिय या अप्रिय प्रभाव महसूस हो सकते हैं। यह भावनायें आमतौर पर अस्थायी होती हैं पर क्योंकि भांग शरीर में कुछ हफ्तों के लिए रह सकती है इसलिए इसका प्रभाव ज्यादा समय के लिए हो सकता है जिसका अहसास उपयोगकर्ताओं को नहीं होता है। लंबी अवधि के उपयोग से अवसाद हो सकता है, प्रेरणा पर प्रोत्साहन की कमी हो सकती है।

शिक्षा और अभ्यास पर प्रभाव -

ऐसा माना गया है कि भांग एक व्यक्ति की निम्नलिखित क्षमताओं में हस्तक्षेप कर सकता है

  • ध्यान केन्द्रित करने में
  • जानकारी को व्यवस्थित करने में
  • जानकारी को इस्तेमाल करने में

उपयोग के बाद यह प्रभाव कई हफ्तों तक रह सकते हैं जो कि छात्रों के लिए विशेष रूप से समस्यायें पैदा कर सकते हैं।

न्यूजीलैंड में एक बड़े अध्ययन में 1265 बच्चों को 25 साल तक देखा गया और यह पाया गया कि किशोरावस्था में भांग का उपयोग खराब स्कूल प्रदर्शन से जुड़ा हुआ था परन्तु इन दोनो के बीच कोई सीधा संबंध नहीं मिला। ऐसा लगा कि शायद यह इसलिए है क्योंकि भांग के उपयोग से जो जीवन शैली अपनाई जाती है उससे स्कूली कार्य करने में कोई प्रोत्साहन नहीं मिलता।

काम-काज पर प्रभाव -

काम करने वाले लोगों में इसका समान प्रभाव है। इसका कोई सुबूत नहीं है कि भांग विशिष्ट स्वास्थ्य खतरों का कारण बन सकता है। परन्तु उपयोगकर्ताओं में बिना अनुमति काम छोड़ने, काम के समय व्यक्तिगत मामलों पर समय बिताने व दिन में सपने देखने की संभावना कहीं अधिक होती है। भांग के उपयोगकर्ता स्वयं यह बताते हैं कि भांग/नशीली दवाओं के द्वारा उनके काम व सामाजिक जीवन में हस्तक्षेप होता है। बेशक कुछ कार्य क्षेत्र दूसरों की तुलना में अधिक कठिन होते हैं। पायलटों पर, भांग के प्रभाव पर किये अनुसंधान की समीक्षा से पता चला कि पायलटों द्वारा भांग न लेने की तुलना में भांग लिए जाने पर कहीं ज्यादा गलतियां हुयीं - छोटी और बड़ी दोनो। जैसा कि आप कल्पना कर सकते हैं, परीक्षण उड़ान सिमुलेटर में किया गया, वास्तविक उड़ान में नही। सबसे बुरे प्रभाव पहले 4 घंटे में थे, हालांकि वह कम से कम 24 घंटे तक बने रहे जबकि पायलट को ”हाई“ होने की सुध/जानकारी नहीं थी। इससे यह निष्कर्ष निकाला गया कि हम में से अधिकांश लोग इस जानकारी के बाद ऐसे पायलट के साथ उड़ान नहीं भरना चाहेंगे जिसने पिछले एक दिन के भीतर भांग का सेवन किया हो।

ड्राइविंग पर प्रभाव -

न्यूजीलैंड में शोधकर्ताओं ने पाया कि वह लोग जो नियमित रूप से भांग का सेवन करते थे और जिन्होंने ड्राइविंग से पहले धूम्रपान किया था उनमे कार दुर्घटना में घायल होने की संभावना ज्यादा थी। फ्रांस में हाल ही के एक अध्ययन में 10000 ड्राइवर्स को, जो कि घातक कार दुर्घटनाओं में शामिल थे, लिया गया। शराब के प्रभाव को भी खाते में लेने पर यह पाया गया कि दूसरों की तुलना में भांग उपयोगकर्ताओें घातक दुर्घटना होने की संभावना दोगुना थी। इसलिए शायद हम में से अधिकांश लोग ऐसे वाहन में जाना पसंद नहीं करेंगे जिसके संचालक द्वारा एक दिन पहले भांग का सेवन किया गया हो।

मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित समस्यायें

इस बात का प्रमाण बढ़ रहा है कि जो लोग किसी गंभीर मानसिक बीमारी, अवसाद या मनोविकृति से ग्रसित होते हैं उनमें कैनबिस उपयोग की संभावना अधिक होती है या फिर अतीत में इन लोगों ने कैनबिस लंबी अवधि के लिए इस्तेमाल किया है। कैनबिस के नियमित उपयोग से साइकोटिक एपिसोड या स्किजोफ्रेनिया होने का खतरा दोगुना हो सकता है। हालांकि स्पष्ट नहीं है कि भांग के कारण अवसाद और सिजोफ्रेनिया हो सकता है या फिर इन विकारों से ग्रसित लोग इसे दवा के रूप में उपयोग करते हैं?

पिछले कुछ वर्षों में किए गए अनुसंधानों से यह बात दृढ़ता से कही जा सकती है कि आनुवांशिक भेद्यता के लोगों में जल्दी कैनबिस के उपयोग और भविष्य में मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के होने में एक स्पष्ट कड़ी है। इसके साथ ही किशोरों द्वारा भांग का उपयोग अपने में एक विशेष मुद्दा है।

अवसाद/डिप्रेसन -

14-15 वर्ष के आस्ट्रेलियाई स्कूली बच्चों पर सात साल के एक अध्ययन से यह पता चला है कि वह बच्चे जो नियमित रूप से कैनबिस का उपयोग करते हैं उनमें अवसाद होने का खतरा कहीं ज्यादा है। हालांकि इसकी तुलना में वह बच्चे जो पहले से ही अवसाद से पीड़ित थे उनमें भांग का उपयोग अन्य बच्चों से अधिक होने की संभावना नहीं थी। हालांकि वह किशोर जो कैनबिस का दैनिक उपयोग करते हैं उनमें अवसाद और चिंता की संभावना बाद के जीवन में पांच गुना अधिक है।

मनोभाजन/सिजोफ्रेनिया -

बड़ी संख्या के लोगों में कई वर्षों तक चले तीन प्रमुख अध्ययन के अनुसार कैनबिस उपयोग करने वाले लोगों में सिजोफ्रेनिया होने का खतरा औसत से अधिक है। यदि आप 15 वर्ष की आयु से पहले भांग का सेवन करना प्रारम्भ करते हैं तो आप में 26 वर्ष की आयु तक मानसिक विकार होने की संभावना 4 गुना अधिक है। इस अध्ययन के अनुसार भांग से स्वयं इलाज करने का कोई प्रमाण नहीं मिला। यह अनुमान लगता है कि कोई जितना अधिक भांग का उपयोग करता है, उतनी अधिक संभावना है, कि उनमें लक्षण विकसित हों। किशोरों में विशेष रूप से भांग का उपयोग करना असुरक्षित क्यों है? यह कोई पक्के रूप से नहीं जानता परन्तु इसका कुछ संबंध मस्तिष्क से हो सकता है। किशोरावस्था में मस्तिष्क का विकास कम से कम 20 वर्ष की आयु तक होता रहता है। इस दौरान तंत्रिका छंटाई (न्यूरल प्रूनिंग) की प्रक्रिया बड़े पैमाने पर चल रही होती है। यह सर्किट के एक पेंचीदा गड़बड़ी को व्यवस्थित करने जैसा है, ताकि वह अधिक प्रभावी ढंग से काम कर सके। ऐसा कोई भी अनुभव या पदार्थ जो इस प्रक्रिया को प्रभावित करता है, एक लंबी अवधि के मनोवैज्ञानिक प्रभाव को उत्पन्न करने की क्षमता रखता है।

यूरोप और ब्रिटेन में हुए हाल ही के अनुसंधान के अनुसार वे लोग जिनमें मानसिक बीमारी की पृष्ठभूमि है और इसलिए शायद आनुवांशिक भेद्यता भी है, उनमें भांग के उपयोग से सिजोफ्रेनिया होने की संभावना कहीं अधिक है।

शारीरिक स्वास्थ्य की समस्यायें -

भांग के कारण शारीरिक स्वास्थ्य को मुख्य खतरा शायद तम्बाकू से है जो कि अक्सर भांग के साथ धूम्रपान किया जाता है।

क्या कैनबिस साइकोसिस (भांग मनोविकृति मानसिकता) जैसी कोई चीज है? -

डेनमार्क में हाल ही में हुये शोध में यह बात कही गयी है। उनके अनुसार यह एक अल्पकालिक मानसिक विकार है जो कि कैनबिस के उपयोग से होता है और जो कैनबिस का उपयोग बंद कर देने से बहुत जल्दी ठीक हो जाता है। हालांकि यह बात काफी असामान्य है कि पूरे डेनमार्क में शोधकर्ताओं द्वारा प्रतिवर्ष मात्र 100 नए मरीज पाये गये।

हालांकि यह भी पाया गया कि-

  1. इनमें से तीन चैथाई मरीज एक वर्ष के भीतर एक अलग मानसिक विकार से ग्रसित पाये गये।
  2. आधे मरीज तीन वर्ष के बाद भी एक मानसिक विकार से ग्रसित पाये गये।

तो इसकी संभावना है कि आधे से ज्यादा लोग जो कि कैनबिस साइकोसिससे ग्रसित पाए गए वास्तव में सिजोफ्रेनिया जैसे लंबे समय से स्थायी एक प्रकार के पागलपन के पहले संकेत दिखा रहे हों। शायद यही लोग विशेष रूप से भांग के दुष्प्रभाव की चपेट में आ सकते हैं और इन्हें भविष्य में भांग से बचना चाहिए।

क्या कैनबिस/भांग नशे की लत है? -

भांग में नशीले पदार्थ/दवाओं जैसी विशेषतायें हैं जैसे कि-

सहनशीलता (Tolerance) - पहले सा प्रभाव पाने के लिए अधिक मात्रा में लेना।

विड्राल / पदार्थ न लेने के लक्षण/ अपूर्ती लक्षण

भारी उपयोगकर्ताओं में निम्नलिखित लक्षण मिलते हैं -

  •  तरसना (Craving)
  •  भूख में कमी
  •  नींद में कठिनाई
  •  वजन का कम होना
  •  आक्रामकता और क्रोध
  •   चिड़चिड़ापन
  •  बेचैनी
  •  अजीबोगरीब स्वप्न

भांग न लेने पर यह लक्षण उतनी ही असुविधा उत्पन्न करते हैं जितना कि तंबाकू न लेने पर।

नियमित रूप से लंबी अवधि के उपयोगकर्ताओें में -

  •  4 में से 3 तरसना (Craving) महसूस करते हैं।
  •  आधे चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं।
  •  10 में से 7 भांग का सेवन बंद करने के प्रयास में तंबाकू लेना शुरू कर देते हैं।

चिड़चिड़ापन, घबराहट और नींद में कठिनाइयों के लक्षण भांग के उपयोग के आखिरी 10 घंटे बाद दिखाई देने लगते हैं और सबसे ज्यादा एक हफ्ते बाद मिलते हैं।

बाध्यकारी उपयोग (कम्पलसिव एप्लीकेशन)

उपयोगकर्ता को यह महसूस होता है कि इसका उपयोग अनिवार्य है और वह अपने जीवन का अधिकांश हिस्सा इसे मांगने, खरीदने और इस्तेमाल करने में बिता देते हैं। वह इसका सेवन बंद नहीं कर सकते जबकि उनके जीवन के महत्वपूर्ण भागों में (परिवार, काम, स्कूल) इसके कारण परेशानी होती है। आपके भांग पर निर्भर होने की आशंका बढ़ जाती है यदि आप इसका उपयोग हर दिन करते हैं।

स्कंक और अन्य शक्तिशाली किस्में -

मुख्य मनोवैज्ञानिक सक्रिय संघटक टी.एच.सी. की मात्रा हर्बल कैनबिस में 1% से 15% तक हो सकती है। स्कंक सहित नये उपभेदों में इसकी मात्रा 20% तक हो सकती है। 30 साल पहले उपलब्ध भांग की किस्मों की तुलना में नई किस्में 2 से 3 गुना अधिक शक्तिशाली हैं। यह अधिक तेजी से काम करता है और गहन शालीनता और स्फूर्ति के साथ मतिभ्रम उत्पन्न कर सकता है। इसके साथ-साथ घबराहट, अत्यधिक चिंता, प्रक्षेप्य उल्टी और अधिक खाने की इच्छा भी हो सकती है। यह ‘एक्सटेसी’ या ‘एलसीडी’ के विकल्प के रूप में कुछ लोगों द्वारा इस्तेमाल की जा सकती हैं।

कानूनी तौर पर यह उपभेद कक्षा-बी दवाओं के वर्ग में आते हैं। इन पर कम अनुसंधान हुये हैं परन्तु यह संभावना है कि इन नये उपभेदों से मानसिक विकार/बीमारी होने का खतरा ज्यादा है। वर्तमान में चल रहे एक अध्ययन के अनुसार यह पता चला है कि भांग की मजबूत किस्मों के उपयोगकताओं में एकाग्रता और अल्पकालिक स्मृति की समस्यायें हो सकती हैं।

भांग के उपयोग से समस्यायें -

भांग का उपयोग करने पर अधिकतर लोग आनंद महसूस करते हैं। पर यह कुछ लोगों के लिए समस्या उत्पन्न कर सकता है। एक अमेरिकी संगठन Marijuana-anonymous.org भांग की समस्याओं को इस प्रकार से परिभाषित करता है -

भांग एक समस्या है अगर भांग हमारी सोच और हमारे जीवन को निर्धारित करता है और अगर हमारी इच्छायें केवल भांग के आस-पास ही केन्द्रित रहती हैं - अपने को नशे में रखने के लिये इसको पाने में, खरीदने में और खोजने में जुटे रहते हैं और बाकी सब चीजों में रूचि खो देते हैं।

इस वेबसाइट पर निम्नलिखित प्रश्नावली है जो कि शराब का सेवन करने वाले उपयोगकर्ताओं पर भी समान रूप से लागू हो सकती है -

”अगर आप किसी भी सवाल का जवाब हाँ में देते हैं तो आपको समस्या हो सकती है।“

  1.  क्या भांग का धूम्रपान के रूप में सेवन अब आनंदमयी नहीं रहा?
  2.  क्या आप अकेले में भांग का नशा करते हैं?
  3.  क्या भांग के बिना अपने जीवन की कल्पना आपके लिए मुश्किल है?
  4.  क्या भांग का उपयोग आपके मित्रों का चयन निर्धारित करता है?
  5.  क्या अपनी समस्याओं से लड़ने के लिए आप भांग का सेवन करते हैं?
  6.  क्या अपनी भावनाओं का सामना करने के लिए आप भांग का सेवन करते हैं?
  7.  क्या भांग के उपयोग के कारण आप अपनी ही निजी दुनिया में रहते हैं?
  8.  क्या आप अपने भांग, धूम्रपान के सेवन को कम या नियंत्रित करने के वादों में विफल रहते हैं?
  9.  क्या भांग के कारण आपको एकाग्रता, स्मृति या प्रेरणा में समस्या उत्पन्न हो रही है?
  10.  जब आपके पास भांग की कमी होती है तो क्या आप उसे प्राप्त करने के लिए चिंतित हो जाते हैं?
  11.  क्या भांग उपयोग के आसपास ही आपका जीवन व्यतीत हो रहा है?
  12. क्या आपके दोस्तों और रिश्तेदारों ने यह शिकायत की है कि भांग,  धूम्रपान के कारण आपके रिश्तों को नुकसान पहुंच रहा है?

भांग के उपयोग को कम करना -

होम आफिस ने हाल ही में भांग के उपयोग में कटौती व पूरी तरह से रोकने के लिए एक गाइड प्रकाशित की है। इसमें भांग का उपयोग सफलतापूर्वक रोकने के लिए बहुत से उपाय बताए गये हैं जिनमें कि शामिल हैं -

  • अपने में बदलाव लाने के लिए क्या कारण है, इनकी सूची तैयार करना।
  • अपने आपको कैसे बदला जाये, इसकी योजना बनाना।
  • परहेज पर लक्षणों का सामना किस प्रकार करेंगे?
  • विफल होने की स्थिति में एक अन्य योजना तैयार रखना।

अगर आपने भांग छोड़ने का निर्णय लिया है तो यह सिगरेट/धूम्रपान छोड़ने से अधिक मुश्किल नहीं है।

आप यह भी कर सकते हैं -

  • अपने आप से छोड़ने के लिए Frank वेबसाइट मे प्राप्त पत्रक के माध्यम से। www.talktofrank.com
  • बहुत से लोग भांग छोड़ने में स्वयं ही सक्षम हो जाते हैं। हालांकि यदि यह पर्याप्त न हो तो आप -
  •  एक सहायता समूह मे शामिल हो सकते हैं, उदाहरण के लिए आनलाइन www.marijuana-anonymous.co.uk/
  • www.connexions.gov.uk/ एक ऐसी वेबसाइट है जो 3-19 साल के बच्चों को सहायता प्रदान करती है और आपको एक चिकित्सक या व्यक्तिगत सलाहकार के संपर्क में रहने में मदद करती है।
  • अपने चिकित्सक या नर्स से बात करें। उन्हें लोगों में शराब पीने की कटौती और धूम्रपान बंद कराने का बहुत अनुभव होता है। वह आपको अन्य विशेषज्ञ सेवाओं के लिए भेज सकते हैं जैसे कि एक परामर्शदाता, सहायक समूह NHS पदार्थ दुरूपयोग सेवा।
  • NHS पदार्थ दुरूपयोग सेवायं भांति-भांति के नशीले पदार्थों का मूल्यांकन और परामर्श प्रदान करने में मदद करती है। इनका लक्ष्य है -
  •  नुक्सान में कमी - आपके जीवन में नशीली दवा के दुष्प्रभाव को कम करना।
  •  पूरा परहेज -  पूरी तरह से रोक।
  • पतन - फिर से शुरू करने में रोक लगाना।
  • कुछ तो भांग उपयोगकर्ताओं के लिए विशिष्ट सेवा प्रदान करते हैं।

Get in contact to receive further information regarding a career in psychiatry